संघर्षों से सफलता पाने वाले सांसद हैं चंद्र प्रकाश जोशी (एशिया पोस्ट श्रेष्ठ सांसद सर्वे 2017)

राजस्थान की चित्तौड़गढ़ लोकसभा सीट से सांसद चंद्रप्रकाश जोशी पहली बार संसद पहुंचने वाले जनप्रतिनिधि हैं। 41 साल के जोशी 16वीं लोकसभा में राजस्थान के 25 सांसदों में से एक हैं। राजस्थान के उदयपुर स्थित मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय से बी कॉम की पढ़ाई कर चुके जोशी का जन्म 4 नवंबर 1975 को राजस्थान के चित्तौड़ गढ़ में हुआ। वह पेशे से किसान और भवन निर्माता रह चुके हैं।

एक सांसद के तौर पर चंद्रप्रकाश जोशी की भूमिका खासी सक्रिय व दमदार रही है। सदन में उनकी औसत उपस्थिति 96 प्रतिशत रही है। उन्होंने 338 चर्चाओं में हिस्सा लिया है। वे रेलवे, कौशल विकास, पेंशन, कृषि, उर्वरक, पर्यावरण, स्वास्थ्य, रोजगार, युवा और खेलकूद, विज्ञान, जल संरक्षण, नागरिक उड्डयन, सुरक्षा, महिला एंव बाल विकास, वित्त और पर्यटन आदि से जुड़े जनता के सवालों को लोकसभा में उठा चुके हैं। कुल 464 सवाल पूछकर काफी सक्रिय रहने वाले सांसदों में शुमार हो चुके हैं। उन्होंने आपदा राहत, कानूनी शिक्षा और दर्शनशास्त्र की अनिवार्य शिक्षा के साथ साथ राजस्थान की ऐतिहासिक स्मारकों और पुरातात्विक महत्त्व के स्थलों के लिये विशेष आर्थिक सहायता को लेकर कुल चार प्राइवेट मेंबर बिल पेश किया है। इसके अलावे वे क्षेत्र की समस्याओं के समाधान और केंद्र सरकार द्वारा चलायी जा रही योजनाओं का लाभ ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने के लिये विशेष रुप से प्रयासरत हैं।

सांसद चंद्रप्रकाश जोशी ने सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत नगरी गांव को गोद लिया और उसके विकास के लिए 149 विकास कार्यों के प्रस्ताव तैयार भी बनाए। वे भाजपा के जिला अध्यक्ष और पार्टी की युवा इकाई भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष भी रह चुके हैं। अपने क्षेत्र में पार्टी का मजबूत संगठन खड़ा करने में उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभायी। पार्टी की एक बूथ दस यूथ की रणनीति को उन्होंने बखूबी अंजाम देते हुए जिला स्तर पर सभी इकाइयों और मोर्चों का सफलता पूर्वक गठन किया। 41 वर्ष के जोशी नेहरू युवा केंद्र से निदेशक की भूमिका निभा चुके हैं। वह दो बार भाजपा की राज्य कार्यकारणी के सदस्य भी रह चुके हैं।
वह जिला कृषि अनुसंधान समिति, जिला शांति समिति और जिला स्वास्थ्य प्रबंधन समितियों में अहम जिम्मेदारियां निभा चुके हैं।

जिला पंचायत के सदस्य के रूप में उन्होंने वर्ष 2000 से 2005 के बीच जनपद के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी।

युवा सांसद की खेलों में विशेष रुचि रही है। वह जिला कुश्ती संघ के भी अध्यक्ष की जिम्मेदारी निभाने के साथ साथ कुश्ती, भारोत्तोलन, बैडमिंटन, क्रिकेट और कबड्डी की कई जिला स्तरीय प्रतियोगिताओं का सफल आयोजन करा चुके हैं।

एशिया पोस्ट सर्वे – प्रभावशाली सांसद 2017 में सांसदों का जनता से जुड़ाव, प्रभाव, छवि, पहचान, कार्यशैली, सदन में उपस्थिति, बहस में हिस्सा, प्राइवेट बिल, सदन में प्रश्न, सांसद निधि का उपयोग व सामाजिक सहभागिता को मुख्य मापदंड बना कर किये गये सर्वे में चंद्र प्रकाश जोशी को प्रमुख स्थान प्राप्त करने के लिये टीम फेम इंडिया की बधाई और शुभकामनाएं।

(सर्वे स्टेक होल्ड तरीके से लोगो से पूछे गये पॉंच सवाल और लोकसभा की साइट पर उपलब्ध चार प्रमुख डाटा ,कुल नौ बिंदुओं पर आधारित है)